शेयर करे

सात निश्चय योजना मे भारी अनियमितता को लेकर कोर्ट के आदेश पर मामला दर्ज

कोई टिप्पणी नहीं
कटिहार/नीरज झा ;--बिहार सरकार की एक महत्वाकांक्षी सात निश्चय योजना मे भारी अनियमितता को लेकर कटिहार के हसनगंज प्रखंड में कार्यरत पूर्व प्रखंड विकास पदाधिकारी जितेंद्र कुमार सहित रामपुर पंचायत के मुखिया विभागीय जूनियर इंजीनियर आईडीबीआई बैंक के ब्रांच मैनेजर सहित 7 लोगो हसनगंज थाने मे कटिहार कोर्ट के आदेश पर मामला दर्ज किया गया है ।




पीड़ित वार्ड नंबर आठ के वार्ड सदस्य नरेश महतो ने बताया कि सात निश्चय योजना के लिए 12 लाख आया था 3लाख 50हजार रुपया की निकाशी कर ली गई सरकार की योजना सात निश्चय का काम कहीं नहीं हुआ सड़क का निर्माण कराया जाना था लेकिन गलत तरीके से चेक साइन करवा कर 3 लाख पंचीस हजार रुपया कटिहार शहीद चौक पर अवस्थित आईडीबीआई बैंक से निकासी कर लि गई इसको लेकर कटिहार जिले के सभी वरीय अधिकारियों सहित बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी लिखित शिकायत दि गयी लेकिन कोई कार्यवाही नही होने पर  थक हार कर कोर्ट में परिवार वाद दायर किया गया और कोर्ट के आदेश पर कटिहार के हसनगंज थाने में 78/10 कांड दर्ज किया गया । इस मामले को लेकर वार्ड मेंबर ने कई गंभीर आरोप लगाते हुए कहा प्रसासन दबाव दे रही है कंप्रोमाइज कर लीजये नही तो जान से हाथ धोना पड़ेगा ।
वही हसनगंज प्रखंड के वर्तमान प्रखंड विकास पदाधिकारी मनीष कुमार ने कहा यह मामला हमारे समय का नही है यह हमसे पूर्व का है इस संबंध में पता चला है कि वार्ड मेम्बर और मुखिया से पुराना विवाद चल रहा था उसी मामले को लेकर कार्यवाही हो रही है उसमें तथ्यों का सामने आएगा जाँच करने के वाद क्या सही है क्या गलत है ।
 वार्ड नंबर 8 के गाजिया संथाली जहाँ सात निश्चय योजना का जहाँ कार्य होना था वहां के स्थानीय  लोगो ने बताया कि जिन सड़क की बात की जा रही है इस  सड़क पर विगत कई वर्षों से कोई कार्य नही हुवा है मिट्टी भराई और इट सोलिंग वर्षो पूर्व किया गया था विगत समय में कोई कार्य नही किया गया ना ही कार्य स्थल का कोई बोर्ड लगा है ।
इस मामले को लेकर कटिहार के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अनिल कुमार ने बताया हसनगंज के इनके रहने वाले नरेश महतो द्वारा कोर्ट परिवार दायर किया गया कोर्ट के आदेश पर उस समय के प्रखंड विकास पदाधिकारी के अलावे सात अन्य लोगो पर केश दर्ज किया गया है । कांड का अनुसंधान किया जा रहा है ।
नोटिस चिपकने के सवाल पर कटिहार अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ने कहा अनुसंधान के दौरान कई बार बुलाया गया लेकिन उपस्थित नहीं हुए इसलिए बजरिया नोटिस के द्वारा उन्हें सूचित किया गया है ताकि कांड का अनुसंधान किया जा सके ।
कटिहार मे अधिकारियों की मनमानी और अवैध उगाही कटिहार मे रुकने का नाम नही ले रहा है पिछले दिनों निगरानी की टीम ने कटिहार मे तैनात पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता  अरविंद कुमार को 16 लाख रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार किया था |

©www.katiharmirror.com

कोई टिप्पणी नहीं

शेयर करे

Popular Posts

Featured Post

लॉकडाउन में दिखी अनियमितता

कटिहार/नीरज झा:--कटिहार मे डायन बनी कोरोना को लेकर पूरी तरह लॉक डाउन लागू है । कटिहार प्रसासन लगातार लोगो को अपने घरों मे रहने की अपील भी क...

Blog Archive