शेयर करे

कटिहार में मुर्दे भी देते है गवाही

कोई टिप्पणी नहीं
कटिहार/नीरज झा :--कटिहार मे अपनी जायदात को लेकर मुर्दे भी अब परेशान होने लगे है, मरने के वाद अपनी जायदात को लेकर अधिकारियों के सामने फरियाद लगाने कब्र से उठ कर आने लगे है और कटिहार के न्याय प्रिय अधिकारी भी उनकी फ़रयाद सुनने लगे और फैसला भी मुर्दे को सुनाने लगे है । 



यह कोई हॉलीवुड या बॉलीवुड की रहस्य रोमांच से भरपूर कोई डरावनी फिल्म की कहानी नहीं यह एक सच्ची घटना कटिहार के अंचल कार्यालय की  है । वार्ड 23 के रहने वाले इमरान अहमद पिता अब्दुल रहमान माता बीबी ख़ातिमन निशा ने कटिहार अंचल कार्यालय मे 16 मार्च 2017 को अपने आवेदन  में जमा वंदी सुधार करने को लेकर एक  आवेदन कटिहार अंचलाधिकारी जयजय राम को दिया । कटिहार सदर प्रखंड के अंचलाधिकारी जयजय राम ने तीन लोगो को सुभाषचंद्र सिंह,कैलाश कुमार सिंह पिता भूमेश्वर सिंह , कुमार राहुल पिता सुजीत कुमार सिंह ,सुजीत कुमार सिंह पिता चंद्रिका प्रसाद सिंह सभी साकिन वार्ड 23 के रहने वाले  ज्ञापांक 494 नोटिस कर अपर समाहर्ता कटिहार के जमाबंदी सुधार को पारित आदेश के आलोक मे दिनांक 11 अप्रेल 2017 को अपने सभी कागजात लेकर उपस्थित होने की बात कही गई । 
16मार्च 2017, 11अप्रैल 2017, 24 मई 2017 तथा 29मई 2017 को कटिहार अंचलाधिकारी जय जयराम के सामने उपस्थित होकर अपना पक्ष भी रखा मुर्दे के पक्ष सुनकर जादूगर कटिहार सदर के अंचलाधिकारी जयजय राम 21अगस्त 2017 को अपने आदेश में लिखते है मोटेशन में संदेह उत्पन्न करता है इस कारण एडिशनल कलेक्टर राजस्व के पास भेजा जाता है और आदेश इमरान अहमद पिता मजहरुल हस्क माता अख्तरी प्रवीण के नाम से जमाबंदी का आदेश दे दिया गया जबकि मोटेशन तोड़ने का आवेदन इमरान अहमद पिता अब्दुल रहमान माता बीबी ख़ातिमन निशा ने दिया था 
जिनके नाम से जमा बंदी का आदेश दिया गया उनकी मौत 2015 मे ही हो गयी थी जिसकी सूचना अन्य एक मामलों में मिर्तक की पत्नी ने टाइटल शूट संख्या 95/2010 मे एक हाफिड डिफीट कर खुद इमरान अहमद की पत्नी ने लंबी बीमारी के बाद 2015 मैं मौत हो जाने की सूचना कोर्ट को दी है ।
हालांकि बरिय अधिकारी को लिखित शिकायत करने के वाद मिर्तक के नाम से हुवा मोटेशन तोड़ दिया गया है लेकिन सवाल बरकरार है कैसे कटिहार अंचलाधिकारी के कार्यालय मे 2015 मे मिर्तक ब्यक्ति आकर अपनी फ़रयाद कर दिया ।
इस मामले को लेकर कटिहार अंचलाधिकारी जयजय राम ने कहा बहुत सी फाइले आती है किसी के एक के बारे में बता पाना संभव नही है मामला संज्ञान में आने के बाद न्याय संगत कार्रवाई की जाएगी ।
वही कटिहार जिले के प्रभारी मंत्री सह बिहार सरकार के भू राजस्व मंत्री राम नारायण मंडल ने कहा  हमे आवेदन मिलेगा तो जाँच करा लेते आप जो आरोप लगा रहे है अगर सिद्ध हो गया तो आप अंदाज लगा सकते क्या कार्यवाही होगी वही कार्यवाही कर दूँगा ।

कोई टिप्पणी नहीं

शेयर करे

Popular Posts

Featured Post

लॉकडाउन में दिखी अनियमितता

कटिहार/नीरज झा:--कटिहार मे डायन बनी कोरोना को लेकर पूरी तरह लॉक डाउन लागू है । कटिहार प्रसासन लगातार लोगो को अपने घरों मे रहने की अपील भी क...

Blog Archive