शेयर करे

कटिहार: जबरन गाड़ियों से पैसा वसूलते ASI सहित तीन लोग गिरफ्तार, थानेदार फरार

कोई टिप्पणी नहीं
कटिहार/नीरज झा :--कटिहार हो या अन्य कोई भी जिला नेशनल हाइवे हो या मुख्य सड़क जहाँ से गुजरने वाली ओवरलोड वाहनों से अवैध वसूली कमो बेस रोज होती है इसके लिए थाने मे पोस्टिंग के लिए मुँह माँगी कीमत और राजनेताओ की सिफारिस ली जाती है । ओवरलोडेड वाहनों से  वसूली के लिए पोठिया ओपी अध्यक्ष अमजद अली दलाल के मार्फत हर ओवरलोड वाहन से एक निश्चित राशि वसूला करते थे बताते चले कि थाना अध्यक्ष थाना परिसर के सामने हरी गुप्ता के मकान में अपना निजी आवास बनाये हुये थे जहाँ दलालों का जमघट लगा रहता था जानकर बताते है अमजद अली कल्याणपुर में पदस्थापित थे तो वरीय पदाधिकारी को खुश रख कर बड़े बड़े कारनामे को अंजाम देते थे ।




कुर्सेला SH77 पर वाहनों से अवैध वसूली की जानकारी डीजीपी को बराबर मिल रही थी साथ थानाध्यक्ष अमजद अली की काली करतूत की पूरी फाइल डीजीपी के पास पहुँच चुकी थी कन्फर्म सूचना पर डीजीपी ने एएसपी हरिमोहन शुक्ला जो कड़क और ईमानदार छवि माने जाते है |





ओपी अध्यक्ष अमजद अली
उनके नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया जिनमें सोमवार की अहले सुबह छापेमारी के दौरान पोठिया ओपी में  पदस्थापित सहायक पुलिस अवर निरीक्षक संजीव कुमार पासवान एवं पोठिया ओपी का निजी चालक रविंद्र कुमार के साथ पोठिया के ही दो दलाल श्रवण राय पेशर मणि राय एवं सुमित राय पेशर शंकर राय को ट्रकों से अवैध वसूली करते रंगे हाथ पकड़ा गया।
मात्र नियति का संजोग कहिए  या विडंबना एक एएसआई संजीव कुमार पासवान जो थाने में थाना प्रभारी से तनिक भी कम का रुतवा नही रखने वाला कुरसेला थाना में अपराधी की तरह हाजत मे बैठा था दूसरी ओर ओपी प्रभारी  अमजद अली अपनी गिरफ्तारी के डर से अपराधी की तरह भागे भागे फिर रहे हैं




। इस मामले में कटिहार के एसपी विकास कुमार ने बताया कि डीजीपी मुख्यालय से मिली जानकारी पर कार्यवाही की गई है एक पुलिसकर्मी सहित चार लोगों को गिरफ्तार  किया गया है जबकि थानाध्यक्ष सहित छह लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। संजीव कुमार पासवान के आवास से ₹30167 बरामद की गई है।
ग्रामीणों महिलाओं ने कहा पोठिया ओपी में बिट्टू सिंह पिता स्वर्गीय पप्पू मंडल दलालों का सरदार है जो कि मवेशी तस्करों से  अवैध वसूली के साथ-साथ शराब कारोबारियों से  वसूली करता है जिसे थाना अध्यक्ष अमजद अली का खुली छूट मिला हुआ था ।






संजीव कुमार पासवान
इस मामले में जेएसआई संजीव कुमार पासवान की पत्नी कंचन देवी ने बताया कि मेरे पति निर्दोष हैं उन्हें फंसाया जा रहा है। और जब बरामद रुपए के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सैलरी की निकासी की गई बच्चों की फीस जमा करनी थी वह बार-बार वरीय पदाधिकारी से न्याय की गुहार लगा रहे थे कि छोटे-छोटे बच्चे हैं कैसे रहेंगे नाम नही बताने की शर्त पर पुलिस विभाग के लोगो ने बताया बेतन भुकतान को लेकर अपने विभागीय लोगो से तू तू में में हुई थी और देख लेने की धमकी तक दी गयी थी पुलिस अवर निरीक्षक संजीव कुमार पासवान ने हरिजन एक्ट के तहत मामला दर्ज कराने की धमकी दी थी अब यह जाँच का विषय है संजीव कुमार पासवान की पत्नी कंचन देवी के बाद में कितना सच है । कल तक  वर्दी के रोब मे रहने वाले आज आम कैदी की तरह कटिहार लाये गये जहाँ न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है

©www.katiharmirror.com

कोई टिप्पणी नहीं

शेयर करे

Popular Posts

Featured Post

लॉकडाउन में दिखी अनियमितता

कटिहार/नीरज झा:--कटिहार मे डायन बनी कोरोना को लेकर पूरी तरह लॉक डाउन लागू है । कटिहार प्रसासन लगातार लोगो को अपने घरों मे रहने की अपील भी क...

Blog Archive