शेयर करे

जान मारने की नीयत से पति ने पत्नी के ऊपर चलाई गोली,बाल-बाल पत्नी समेत दो बच्चे की बची जान।

कोई टिप्पणी नहीं
कटिहार/बरारी/नरेश चौधरी ;--बिहार में अपराधियों को अब पुलिस का भय मानो खत्म सा हो गया है बरारी थाना क्षेत्र से महज 100 मीटर की दूरी पर रेलवे फाटक के समीप बाइक पर सवार अपने ही पत्नी और बच्चों पर गोली चला कर हत्या करने का  सनसनी खेज मामला सामने आया है ।
अपने पति अमित ससुर  सास पर घरेलू हिंसा  मारपीट शारिरिक शोषण, मानसिक प्रताड़ना का एक केश दर्ज कराया था उसी सिलसिले मैं पूर्णिया कोर्ट मे गवाही देकर जब वापस घर बरारी लौट रही थी बरारी थाना के पास हैवान पति ने कार में बैठी अपनी पत्नी कुमारी एकता और उनके दो बच्चे को जान से मारने के नियत से गोली चला दी ।


 पीड़ित पत्नी एकता ने लिखित आवेदन देकर कहा है कि पूर्णिया से वापस कटिहार पहुँची जहाँ बच्चे का स्कूल फीश जमा करने के लिए कटिहार पहुची थी कटिहार जिला प्रसासन ने 23 जून तक सभी विद्यालय बंद रखने का आदेश दे रखा था जिससे स्कूल का ऑफिस बन्द रहने के कारण घर लौटने के दौरान कटिहार से बरारी अपनी गाड़ी से वापस लौट रही थी इस गाड़ी में  कुमारी एकता और उनके मासूम दो बच्चे 11 वर्षीय मयंक 04 वर्षीय पीहू के ऊपर पति अमित कुमार पूर्णिया कोर्ट से मोटरसाइकिल से पीछा करते हुए बरारी आ पहुँचा अपने गवाह को मिटाने के खयाल से अपने ही पत्नी और बच्चे पर जान से मारने के नियत से बाइक से ओवरटेक कर गोली चला दी जिससे कि कार में बैठे बेटी पीहू 04 बेहोस हो गयी और पत्नी कुमारी एकता जान बचाकर कार से उतरकर पेड़ के पीछे छिप कर अपनी जान बचाई इसी दौरान कार ड्राइवर गाड़ी छोड़ बरारी थाना पहुँच कर मामले की जानकारी बरारी थानाध्यक्ष अमित कुमार को दी थानाध्यक्ष ने जानकारी मिलते ही अपने दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुँच कर मामले की छानबीन करते हुए रोड के किनारे बने गड्ढे में एक देशी कट्टा बरामद किया है । बरारी थानाध्यक्ष अमित कुमार कुमारी एकता के आवेदन पर केस दर्ज कर मामले की छानबीन में जुट गई है ।





...क्या कहती है पीड़िता...

 कुमारी एकता ने इस संबंध में कहना है कि 2007 में मेरी शादी पूर्णिया निवासी अमित कुमार  से थी शादी के कुछ ही महीने बाद ही पति से घरेलू विवाद बढ़ता गया पति ससुर सास के द्वारा लगातार मारपीट घरेलू हिंसा, शारिरिक मानसिक शोषण किया जाता रहा।




जो कि इस घटना की जानकारी किसी तरह अपने परिजनों को दी मेरी माँ ऒर परिजनों के साथ पूर्णिया ससुराल से मायके बरारी चली आयी उसी समय मैं पूर्णिया कोर्ट में इन घटना को लेकर केस दर्ज कराया जिसके बाद मेरे पति अमित मुझे बार बार धमकी दिया करता था और जिसका परिणाम रात्रि  मोटरसाइकिल पर सवार दो व्यक्ति मेरे कार से आगे निकला और कुछ ही दूरी के बाद वापस लौटा और दाहिने तरफ गोली चलाया चला दिया मोटर साइकिल पर सवार दोनों लोग भागने में सफल रहे वही एकता के पुत्र मयंक कुमार ने  मोटरसाइकिल पर सवार व्यक्ति को अपने पिता अमित कुमार के रूप में पहचाना तथा मोटरसाइकिल चला रहे व्यक्ति हेलमेट पहने होने के कारण नही पहचान पाया ।


©www.katiharmirror.com

कोई टिप्पणी नहीं

शेयर करे

Popular Posts

Featured Post

लॉकडाउन में दिखी अनियमितता

कटिहार/नीरज झा:--कटिहार मे डायन बनी कोरोना को लेकर पूरी तरह लॉक डाउन लागू है । कटिहार प्रसासन लगातार लोगो को अपने घरों मे रहने की अपील भी क...

Blog Archive