शेयर करे

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सरकारी कर्मचारी का दर्जा दिया जाए- काजिम इरफानी

कोई टिप्पणी नहीं

नीरज झा वरीय संवादाता;-- कटिहार के बारसोई अनुमंडल मुख्यालय के प्रांगण में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का एक दिवसीय धरना प्रदर्शन आयोजित किया गया, जिसका नेतृत्व बारसोई प्रखंड आंगनबाड़ी कार्यकर्ता संघ की अध्यक्ष महबूबा खातून ने किया।
धरना कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि बलरामपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक कॉमरेड महबूब आलम की पत्नी मोहतरमा जूही महबूब भी मौजूद रही ।
प्रदर्शनकारी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भाकपा माले नेता व आइसा के प्रदेश उपाध्यक्ष काजीम इरफानी ने कहा कि बिहार सरकार बिहार के स्किम वर्कर्स के साथ घिनौना मजाक कर रही है। उन्होंने आंगनबाड़ी सेविका व सहायिका के पक्ष को रखते हुए कहा कि इन कर्मियों को न्यूनतम वेतन 18000 रुपये देने सरकारी कर्मचारी का दर्जा देने समय पर मानदेय देने मानसम्मान जैसी मांगो पर बिहार सरकार को तुरंत संज्ञान लेते हुए आवश्यक दिशा निर्देश जारी करना चाहिए। उन्होंने कहा कि बिहार में भाकपा माले पार्टी विधायकों ने जिस ईमानदारी के साथ  तमाम स्किम वर्कर्स के सवालों को बिहार विधानसभा सत्र में उठाया है यह काबिले तारीफ है, बलरामपुर के माननीय विधायक कॉमरेड महबूब आलम ने बिहार में विधायकों व MLC के वेतन वृद्धि करने पर नीतीश सरकार को आड़े हाथों लिया था और इन वेतन बढ़ाने को वापस लेकर आंगनबाड़ी, आशा स्वक्षता ग्रहियों व कामकाजी अन्य संगठनों के बीच देने की बात कही थी। उन्होंने अपने संबोधन में आगे कहा कि बिहार में जिस तरह से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की अनदेखी की जा रही है यह सरकार की विफलता में गिना जायेगा।
इस धरना कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जूही महबूबा ने कहा कि यह आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की ओर से महिलाओं की ललकार है और यह ललकार नीतीश सरकार की नींद हराम करने के लिए काफी है। उन्होंने कहा कि सरकारें विभिन्न चुनावी जुमलों के साथ इन तमाम मेहनतकश महिलाओं की जायज माँगो पर विचार करने से भी बचती है और यह उनके दावों की पोल खोलता है, उन्होंने इस कड़कड़ाती ठंड में भी चारों प्रखण्ड क्षेत्र से आने वाले आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का शुक्रिया अदा करते हुए आंदोलन की जायज मांगों का पुरजोर समर्थन किया।
इस मौके पर चारों प्रखंडों के अध्यक्षों महबूबा खातून (बारसोई), शबाना शब्बीरी (बलरामपुर), ललिता देवी (कदवा), रिजवाना खातून (आजमनगर), आसमा खातून, हबीबा खातून, मोअज़्ज़म हुसैन, नसीम अख्तर, शाहबाज़ दीदार, जुलकरनैन चौधरी, नियाज अहमद, गुलजार आलम, फरजुल आलम, मोनू यादव, गौतम कुमार, सद्दाम हुसैन, आफताब ताज, मो. मिस्बाह सहित सेकड़ों आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने भाग लिया

कोई टिप्पणी नहीं

शेयर करे

Popular Posts

Featured Post

लॉकडाउन में दिखी अनियमितता

कटिहार/नीरज झा:--कटिहार मे डायन बनी कोरोना को लेकर पूरी तरह लॉक डाउन लागू है । कटिहार प्रसासन लगातार लोगो को अपने घरों मे रहने की अपील भी क...

Blog Archive