शेयर करे

किसानों ने कटिहार समाहरणालय के सामने सरकारी नीतियों के विरोध में धान फेक कर किया प्रदर्शन ।

कोई टिप्पणी नहीं
कटिहार /वरीय संवादाता नीरज झा / जिला समाहरणालय के सामने सोलह प्रखंड के सैकड़ो किसानो ने अपने खलिहान से तैयार धान की फसल को कई बोरे में भरकर सरकार के जिले के वरीय पदाधिकारियों के कार्यालय के बाहर समाहरणालय के सामने फेंका सरकारी नीतियों के विरोध में आक्रोश पूर्ण प्रदर्शन किया । धान को फेंक सरकार के किसान विरोधी नितियो को लेकर जमकर नारेबाजी की ।



किसानों ,मनोज गुप्ता और बिनोद मण्डल कि माने तो सरकार ने 15 नवम्बर से धान क्रय के लिए प्रखंडो कृषि साख सहयोग समिति के माध्यम से 15 नवंबर के बाद 1 दिसम्बर की तारीख तय हुई सरकार लगातार तारीख पर तारीख तय करती रही जहां अबतक प्रखंडो के किसानों के धान क्रय के लिए  सहकारिता विभाग कोई पहल नही किया गया नतीजन मजबूर किसान धान की फसल अब लागत से भी कम कीमत पर बिचौलिये को धान बेचने को मजबूर है और यही वो वजह है कि लागत से भी कम कीमत मिलने पर किसानों ने प्रशासन के दरवाजे पर धान को फेंक डाला है और सरकार से बेटी-रोटी की चिंता जतायी है ।
 सहकारिता विभाग के सर्वेयर गंगा उरांव की माने तो तारीख तो 15 नवम्बर की सरकार से तय थी किसानों से धान अधिप्राप्ति के कुछ और कायदे कानून को उनके खलिहानों में परखना बाँकी है यह कहकर उन्होंने अपना पाला झाड़ निकल गये ।
डिजिटल इंडिया साइनिंग इंडिया जिसमे सबसे ऊपर अन्नदाताओं को सरकार ने हर सुविधाओं को तय कर डाला है वहीं कटिहार के किसानों के समक्ष अब बेटी-रोटी की समस्या आ खड़ी हुई है एक तरफ धान का रेट नही मिल रहा है ऊपर से महाजन का रोज तकादा आरह है करे तो क्या करे

©www.katiharmirror.com

कोई टिप्पणी नहीं

शेयर करे

Popular Posts

Featured Post

लॉकडाउन में दिखी अनियमितता

कटिहार/नीरज झा:--कटिहार मे डायन बनी कोरोना को लेकर पूरी तरह लॉक डाउन लागू है । कटिहार प्रसासन लगातार लोगो को अपने घरों मे रहने की अपील भी क...

Blog Archive